बर्मी लड़की (मंटो अब तक - 20) [Burmi Ladki (Manto Ab Tak - 20)] Saadat Hasan Manto

ISBN: 9789350722763

Published:

Hardcover

104 pages


Description

बर्मी लड़की (मंटो अब तक - 20) [Burmi Ladki (Manto Ab Tak - 20)]  by  Saadat Hasan Manto

बर्मी लड़की (मंटो अब तक - 20) [Burmi Ladki (Manto Ab Tak - 20)] by Saadat Hasan Manto
| Hardcover | PDF, EPUB, FB2, DjVu, AUDIO, mp3, ZIP | 104 pages | ISBN: 9789350722763 | 6.70 Mb

मणटो ‘सरद पकषधरता’ का कायल नहीं है, इसीलिए उसकी कहानियाँ, समान रूप से, संवेदनशील पाठकों को बड़ी तीवरता और गहराई के साथ विचलित करती हैं। वह सारी बेचैनी जिसे मौजूदा निजाम में मणटो महसूस करता है, उसे वह बड़ी खूबी के साथ अपने पाठकों तक पहुँचा देता है। वहMoreमण्टो ‘सर्द पक्षधरता’ का कायल नहीं है, इसीलिए उसकी कहानियाँ, समान रूप से, संवेदनशील पाठकों को बड़ी तीव्रता और गहराई के साथ विचलित करती हैं। वह सारी बेचैनी जिसे मौजूदा निजाम में मण्टो महसूस करता है, उसे वह बड़ी खूबी के साथ अपने पाठकों तक पहुँचा देता है। वह तिलमिलाहट, जिसने मण्टो को ये कहानियाँ लिखने के लिए उकसाया है, पाठक भी महसूस करते है और उस आक्रोश के तहत, जो मण्टो में शिद्दत से उभरता है, वे भी ‘स्वराज्य के लिए’ के गुलाम अली की ची़ख में अपना स्वर मिलाना चाहते हैं:



Enter the sum





Related Archive Books



Related Books


Comments

Comments for "बर्मी लड़की (मंटो अब तक - 20) [Burmi Ladki (Manto Ab Tak - 20)]":


kropp.com.pl

©2011-2015 | DMCA | Contact us